Tuesday, 23 February 2016

हाल ए बनारस....

कल बनारस चर्चा में था...झगड़ा बवाल मार पीट...पॉलिटिक्स.यूपी पंजाब चुनाव..मोदी हाय हाय...केजरी सर जिंदाबाद..रोहित वेमुला अमर रहें...कामरेड खालिद जिंदाबाद...कई सड़क छाप लौंडे नेता बनने की सफल  रिहर्शल के बाद भी असफल रहे...बस मुर्दाबाद कहकर कुछ पत्थर ही फ़ेंक पाये ...फेसबुक भी आबाद था...पर्याप्त मैटीरियल था स्टेटस चमकाने के लिए...
थानवी चचा अंध विरोध वाला चश्मा लगाकर दो हरियाणा का फ़ोटो और एक मोदी की जापान यात्रा का फ़ोटो लगाकर ये बता रहे थे कि भारत रोम हो गया है...नीरो बन्शी बजा रहा....बुद्धिजीवी बनने की प्रक्रिया में लगे कुछ लोग इसे सही मान रहे थे।
कुछ देशभक्त चचा की माँ बहन का तेज तेज स्मरण भी कर रहे थे।
तब तक बनारस में योग ध्यान पूजा करने के बाद मोदी उठे और रविदास मन्दिर गए...फिर बीएचयू. तब तक...केजरीवाल सर आये.. रविदास मन्दिर में मत्था टेका...बार बार शीश नवाकर बताया कि मोदी नही ,वो  अच्छे नेता हैं जीं.....इधर  सैकड़ो कार्यकर्ता पलक पाँवड़े बिछाये उनका इंतजार करते रहे...लेकिन उन बेचारों के  अरमानों पर पानी फेरकर वो दिल्ली कि पानी समस्या समाधान करने  निकल गए....किसी ने बताया कि वो पंजाब के लिए आये हैं यूपी के लिए नहीं...धैर्य रखें... हाँ अगली बार चुनाव हुआ... प्रधानमन्त्री बनना हुआ तो जरूर आकर गंगा जी में नहायेंगे.....और आप सब से मिलकर वोट मांगेगे।
तब तक...हमारे उत्तम प्रदेश के युवा मुखमंत्री सीरी अकलेस भाई ने एक सराहनीय और बहुत ही अच्छी  बात कही...."कि हर जाति के गरीबों को आरक्षण मिलना चाहिए."..
ये सब हो ही रहा था कि महामना कि बगिया यानी सर्व विद्या की राजधानी में सोने की बरसात होने लगी...
खैर...कहने को  बहुत कुछ है....लेकिन
मुझे कल कि सबसे अच्छी तस्वीर यही लगी।
आप जरूर सोचेंगे कि किसी विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में ये आठवीं नवीं के बच्चे क्या कर रहे हैं....मीडिया ने भी नहीं बताया होगा..वो मार पीट झगड़ा दिखाकर टीआरपी गेन करने में व्यस्त था।  और शायद आदमी देखना भी नहीं चाहता था...तभी तो छिद्रान्वेषण हमारी आदत बनती जा रही ।
कल ये प्यारे बच्चे प्रधानमंत्री के ख़ास मेहमान थे...
इनको मोदी ने अपना भाषण सुनाने के लिए नहीं बुलाया  था...इनको बुलाया था कि ये बच्चे  इस भव्य समारोह और गोल्ड मेडल की बारिष को देखें..ताकि उनके भी मन में कोई सपना  जन्म ले...जो देश की आन बान शान बढ़ाने में मदद करे...हजारो में से किसी एक ने भी देख लिया तो बुलाना सार्थक हो जाएगा।...
कल ये बच्चे जब मोदी के सामने   एक साथ चिल्ला रहे थे वंदे मातरम भारत माता की जय...तो मुझे लग रहा था शहीद हनमन थप्पा और पंपोर में शहिद हुए कैप्टन  पवन की रूह को आराम मिल रहा है।

Imgage-narendramodi.com


1 comment:

  1. कमाल की लेखनी आपकी

    ReplyDelete

Disqus Shortname

Comments system